अक़्सा

जेरूसलम में
अल-अक़्सा के सहन में
कोई दरकी हुई पुरानी ईंट
ज़ख्म इस्राएली या फिलिस्तीनी नहीं होते

मैं झुकती हूँ उस पर
सजदे में या मोहब्बत में
दोनों एक से लगते हैं
होते हैं ?

Image result for al aqsa

दरारों से झांकती रोशनी में
मुस्कराता है एक अक्स
जिसने उतार फेंके
दिए हुए नाम और वुजूद

उसकी धूप सी मुस्कान में
ज़िन्दगी देखती हूँ
उसकी आँखों में
छुपाये हुए ग़म

उठती हूँ
लौटती हूँ
सजदे में
मोहब्बत में
एक नए अक़्स के

क्यूंकि ज़ख्मों की तरह
वुजूद भी रेत होते हैं
पत्थर नहीं होते

Advertisements